BREAKING!
  • छात्र-छात्राओं को महिला सुरक्षा एवं सायबर अपराधों से बचाव के लिए किया जागरूक
  • 49 परिवारों को आवंटित किए पीएम आवास, किराए के मकानों से मिला छुटकारा
  • ट्रिपल आईटीएम कचरा ट्रांसफर स्टेशन प्रभारी को नोटिस: सफाई कर्मचारी ने फैलाया कचरा, लगी फटकार
  • पॉलीथिन से छुटकारे के लिए ग्वालियर नगर निगम ने खोला थैला बैंक
  • गंदगी फैलाने वालों से वसूला 8 हजार का जुर्माना
  • हीरो की प्रदूषण मुक्त इलेक्ट्रिक वाहन विश्वसनीयता का प्रतीक : प्रकाश अग्रवाल
  • राजस्व प्रकरणों का निराकरण राजस्व अधिकारी का पहला कार्य है: कलेक्टर
  • मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत संभाग स्तरीय आयोजन शिवपुरी एवं भिण्ड में होगा
  • विश्व मृदा संरक्षण दिवस पर पूजन कर लिया नोननदी के संरक्षण का संकल्प
  • राज्य स्तरीय युवा उत्सव में होंगी अंतर जिला विश्वविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिताएं

Sandhyadesh

ताका-झांकी

मूल भाजपाईयों व बाहर से आये भाजपाइयों में जंग

14-Sep-22 554
Sandhyadesh

आजकल भाजपा के भीतर ही भीतर जंग चल रही है, यह जंग मूल भाजपाईयों व बाहर से आये कांग्रेसी भाजपाईयों के बीच है। ग्वालियर-चंबल अंचल में यह स्थिति ज्यादा गंभीर है क्योंकि सबसे ज्यादा कांग्रेस से भाजपा में आये नेता और कार्यकर्ता मूल भाजपाईयों को गिन ही नहीं रहे हैं और उनकी जडें काटने पर आमादा हैं जिसमें ग्वालियर-चंबल संभाग में भाजपा दो खेमों में बंटी सी नजर आती है।
ग्वालियर से लेकर डबरा ,दतिया, भिंड, मुरैना, शिवपुरी, श्योपुर , गुना ,अशोक नगर, में से अधिकांश स्थानों पर भाजपा खेमेबाजी में बंट गई है। ग्वालियर जिले के डबरा में तो यह स्थिति विषम है। कुल मिलाकर भाजपा में आये पूर्व कांग्रेसी अब मूल भाजपाईयों पर आंखें तरेरने लगे हैं।
यदि भाजपा में अभी भी यह स्थिति बनी रही तो २०२३ के चुनाव में पार्टी को काफी दिक्कतें आ सकती हैं। भाजपा में भी नये नवेले इन भाजपाईयों ने अपनी-अपनी विधानसभा सीटें चुन ली हैं और अपने नेता के आशीर्वाद से टिकट मिलने का दंभ भर मूल भाजपाईयों को हताश करने पर आमादा हैं, जिससे इन जिलों में केवल पदाधिकारियों को छोडकर अन्य भाजपाई अब अपने घर बैठने लगे हंै।
यह खबर भाजपा के प्रदेश आलाकमान को भी है, लेकिन प्रदेश आलाकमान अभी भी ऐसे मामलों को हल्के में ले रहा है। 

Popular Posts