BREAKING!
  • 64 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से बनने वाले आईएसबीटी से शहर विकास को मिलेगा नया आयाम
  • बजरंगी पवैया की गौभक्ति उबाल पर, कसाइयों के अडडों पर में स्वयं कूच कर दूंगा
  • श्री गजानन माता -शक्तिपीठ में देवी भागवत पुराण की पूजा अर्चना एंव कलश यात्रा के साथ -शुरू हुआ नवरात्रि महोत्सव
  • श्री गजानन माता शक्तिपीठ में कलश यात्रा के साथ शुरू हुआ नवरात्रि महोत्सव का शुभारंभ
  • उपनगर ग्वालियर में भी अग्रसेन जयंती पर प्रभात फेरी निकली
  • दतिया जिले ने विभिन्न क्षेत्रों में कीर्तिमान स्थापित कर संभाग का गौरव बढ़ाया: संभाग आयुक्त सक्सेना
  • बीजों के नमूने अमानक पाए जाने पर चार फर्मों के विक्रय पंजीयन निरस्त
  • सीएम हैल्पलाइन में दर्ज प्रकरणों का निराकरण सर्वोच्च प्राथमिकता से करें : कलेक्टर
  • मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत मेगा कैम्प का आयोजन 27 सितम्बर को
  • चमकदार तारे की तरह दिखेगा बृहस्पति: डॉ. दीप्ति गौड़

Sandhyadesh

ताका-झांकी

प्रोफेसर को दस हजार की रिश्वत लेते ईओडब्ल्यू ने दबोचा

21-Dec-21 6001
Sandhyadesh

ग्वालियर। आर्थिक अनुसंधान अन्वूषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) ने आज  विजयाराजे शासकीय कन्या महाविद्यालय के प्रोफेसर  डाक्टर बीडी मानिक  को पीएचडी कराने में थीसिस पर साइन करने के नाम पर दस हजार रूपये की रिश्वत लेते हुये दबोचा है।
पुलिस अधीक्षक ईओडब्ल्यू अमित सिंह ने बताया कि नई दिल्ली नजफगढ़ निवासी अवनीश कुमार ने ईओडब्ल्यू को शिकायत की कि  विजयाराजे शासकीय कन्या महाविद्यालय मुरार के प्रोफेसर  डाक्टर बीडी मानिक ने थीसिस पर साइन करने के नाम पर ५१००० रूपये की मांग की थी। इसकी पहली किश्त के रूप में दस हजार रूपये आज अवनीश ने जैसे ही दिये वैसे ही ईओडब्ल्यू ने उन्हें रंगे हाथों दबोच लिया। ईओडब्ल्यू ने आरोपीप्रोफेसर के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। आवेदक बीसीए, एमसीए ,संगीत में मास्टर डिग्री के बाद जीवाजी विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहा था। प्रोफेसर डाक्टर मानिक उसके गाइड थे।

Popular Posts