BREAKING!
  • सा रे ग म संगीत समूह: मोहम्मद रफी साहब की याद में स्वरांजलि कार्यक्रम किया गया
  • अखिल भारतीय माहौर ग्वाररे वैश्य महासभा की कार्यकारिणी का दायित्व ग्रहण समारोह संपन्न
  • JCI ग्वालियर का ट्रेनिंग प्रोग्राम एक और एक ग्यारह का आयोजन किया गया
  • कर्मचारी आवास कॉलोनी में रोपे पौधे
  • सिफारिशी पत्रों की जांच ने रोकी लिस्ट
  • एल.एन.आई.पी.ई. में मनाया जायेगा आजादी का सात दिवसीय अमृत महोत्सव
  • मध्यप्रदेश में अब घर बैठे बनेंगे ऑनलाइन लर्निंग ड्रायविंग लायसेंस
  • गौमाता की आवाज हमेशा उठाते रहेंगे, हमले पर चुप नहीं बैठेगे : मिर्ची बाबा
  • लोकायुक्त ट्रेप कार्रवाई : रिश्वत लेते सी एम एच ओ का लिपिक दबोचा
  • बेटा-बेटी की तरह करें पौधों की देखभाल - ऊर्जा मंत्री तोमर

Sandhyadesh

ताका-झांकी

बढ़ता कोरोना, मेला के लिए खतरे की घंटी

26-Feb-21 1215
Sandhyadesh

ग्वालियर अंचल में अचानक बढ़े कोरोना केस से व्यापार मेला आयोजन पर संकट के बादल मंडरा गये है। हालांकि मेला अब संपूर्ण लगने को है और मार्च के प्रथम सप्ताह में अपने शबाब पर आ जायेगा। मंगलवार और बुधवार को मेला में बंपर भीड़ उमड़ी थी। जिसके बाद गुरूवार को रिकार्ड 18 कोरोना के मामले ग्वालियर में लंबे अरसे के बाद दर्ज किये गये। कोरोना का ग्राफ बढ़ने के बाद से लोगों में दहशत का माहौल जरूर बना है, परंतु व्यापारी कोरोना के सुरक्षा उपायों के साथ 2021 मेला के लिए तैयार है। प्रशासन ने मेला में सात गेटों से एन्ट्री की बात कही है। साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग के बाद मेला में सैलानी के प्रवेश का आदेश दिया है, वही मास्क को भी अनिवार्य कर दिया है। इन सब उपायों से व्यापारी मेला घूमने और खरीददारी के लिए सेफ बता रहे है। लेकिन बीते रोज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने संदेश में कोरोना से बचाव के लिए हर कदम उठाने की बात कही है। महाराष्ट्र से सटे जिलों में नाइट कफ्र्यू लगने का अंदेशा है। इधर ग्वालियर चंबल अंचल में कोरोना ग्राफ के बढ़ने के बाद मेला आयोजन पर जहां प्रश्नचिन्ह लग रहा है। वही इससे कोरोना फैलने का भी खतरा बढ़ गया है। 

Popular Posts