BREAKING!
  • मुन्ना पर दादा समर्थक मेहरबान
  • उपनगर में महाराजा अग्रसेन चल समारोह निकला
  • कमलनाथ क्षमा मांग लेते तो मामले का पटाक्षेप हो जाता : अजय विश्रोई
  • धीरज ढींगरा मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के महासचिव नियुक्त
  • रोटरी क्लब ग्वालियर के ग्लोबल ग्रान्ट प्रोजेक्ट का लोकार्पण
  • जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों से 35 प्रत्याशी चुनाव मैदान में, कुल 4 प्रत्याशियों ने नाम वापस लिए
  • सिंधिया अपना भाषण रोककर सुनते थे अजान, भाषण दे रहे थे जब अन्नदाता की गई जान: डॉ. देवेन्द्र शर्मा
  • राहुल से कमलनाथ तक कांग्रेस की संस्कृति में बसा है महिला का अपमान- सांसद रीति पाठक
  • इमरती पर टिप्पणी: सोनिया-प्रियंका माफी मांगे, प्रदेश अध्यक्ष शर्मा के नेतृत्व में विशाल मौन धरना
  • ईद मिलादुन्नबी का चांद दिखा, 30 अक्टूबर को मनाई जायेगी

Sandhyadesh

ताका-झांकी

पूर्व लाट साहब को अब ग्वालियर रास नहीं आया

16-Sep-19 3305
Sandhyadesh

ग्वालियर से लाट साहब रहे कप्तान साहब अपनी नई पारी खेलना चाहते है इसीलिये उन्हें अब ग्वालियर रास नहीं आ रहा है। वैसे भी हरियाणा व त्रिपुरा से लौटने के बाद पुराना ग्वालियर कहां पसंद आने वाला हैं। कार्यकाल पूरा होने के बाद वह ग्वालियर की जगह भोपाल चले गये हैं।
भोपाल में अब वह पुनः संभवतः सक्रिय राजनीति में लौटना चाह रहे हैं। उन्हें लगता है कि भाजपा नेताओं के आपसी द्वंद में उनकी लाॅटरी निकल सकती है। वह भोपाल को केन्द्र कर अपना मिशन लेकर चल रहे है। हालांकि उनके पुत्र अभी भी ग्वालियर की राजनीति कर रहे हैं। 
दरबारी लाल....

Popular Posts