BREAKING!
  • उपचुनाव के बाद कुछ चेहरे बदले जा सकते हैं मंत्रीमंडल में ....?
  • मध्यप्रदेश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को प्रदेश में ही नौकरी दिलाने के प्रयास होंगे – यशोधरा राजे सिंधिया
  • हॉकी का वैभव फिर से कायम करने के लिए सरकार प्रयासरत – मंत्री यशोधरा राजे
  • भारत स्काउट गाइड वर्ष भर सेवा कार्यक्रम करेगा
  • MP में नहीं होगी 'आश्रम' की शूटिंग, पहले साधू संत देखेंगे स्क्रिप्ट- प्रज्ञा ठाकुर
  • पुस्तक से अच्छा कोई मित्र नहीं- गृह मंत्री डॉ मिश्र
  • राजमाता स्व. विजयाराजे सिंधिया को 102वीं जयंती पर श्रद्धा भाव के साथ याद किया
  • मुंबई की डॉ सरिका श्रीवास्तव कर रही हैं पीडि़तों की सहायता
  • गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र पुस्तक के विमोचन समारोह में आज शामिल होंगे
  • ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने शिंदे की छावनी और गेंडेवाली सड़क का किया निरीक्षण

भाजपा गोपनीय सर्वे को लेकर चिंतित, दलबदलू 13 सीटों पर कमजोर

27-Apr-20 5927
Sandhyadesh

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले मंत्री और विधायकों सहित भाजपा आलाकमान इन दिनों मध्यप्रदेश को लेकर बेहद हैरान है। हैरानी का कारण भाजपा द्वारा कराया गुपचुप सर्वे है, जिसमें इन 22 पूर्व विधायकों और मंत्रियों में से 13 की सीट खतरे में दिखाई पड़ रही है। इसी कारण अब भाजपा भी मंत्रिमंडल विस्तार में इन पूर्व मंत्रियों की भागीदारी पर संशय कर रही है। 
सूत्रों के मुताबिक भाजपा आलाकमान के इशारे पर एक सर्वे एजेंसी ने मध्यप्रदेश में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों और सरकार के उन मंत्रियों का सर्वे किया था जिस सर्वे में यह बात सामने आई तो आलाकमान भी चौंक गया है, जिसमें भाजपा के टिकट पर कांग्रेस के 13 पूर्व विधायक व मंत्रियों की हालत पतली दिखाई पड़ती है। 
बताया जाता है कि भाजपा आलाकमान इन सर्वे को लेकर चिंतित है और यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने मंत्रीमंडल विस्तार में कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों को स्थान देने में कंजूसी बरती। अन्यथा वायदे के मुताबिक इस्तीफा देने वाले सभी मंत्रियों को पुन: मंत्री बनाया जाना था। 
अब संभावना इस बात की भी बन गई है कि अब मुख्यमंत्री अपना मंत्रीमंडल विस्तार इसी कारण फिलहाल लॉक डाउन के नाम लेकर कुछ समय को टाल भी दें। 
क्रमश: 

Popular Posts