BREAKING!
  • श्री गजानन माता शक्तिपीठ में कलश यात्रा के साथ शुरू हुआ नवरात्रि महोत्सव का शुभारंभ
  • उपनगर ग्वालियर में भी अग्रसेन जयंती पर प्रभात फेरी निकली
  • दतिया जिले ने विभिन्न क्षेत्रों में कीर्तिमान स्थापित कर संभाग का गौरव बढ़ाया: संभाग आयुक्त सक्सेना
  • बीजों के नमूने अमानक पाए जाने पर चार फर्मों के विक्रय पंजीयन निरस्त
  • सीएम हैल्पलाइन में दर्ज प्रकरणों का निराकरण सर्वोच्च प्राथमिकता से करें : कलेक्टर
  • मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत मेगा कैम्प का आयोजन 27 सितम्बर को
  • चमकदार तारे की तरह दिखेगा बृहस्पति: डॉ. दीप्ति गौड़
  • देवेन्द्र शर्मा कांग्रेस अध्यक्ष पर रिपीट होंगे? सतीश, प्रवीण, सुनील लिखकर दे आये कमलनाथ को
  • बसुधैव कुटुम्बकम संस्कृति का पालन कर रही है भाजपा - मिश्रा
  • कांग्रेस ने फैली अव्यवस्थाओं को लेकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

Sandhyadesh

ताका-झांकी

भाजपा गोपनीय सर्वे को लेकर चिंतित, दलबदलू 13 सीटों पर कमजोर

27-Apr-20 6427
Sandhyadesh

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले मंत्री और विधायकों सहित भाजपा आलाकमान इन दिनों मध्यप्रदेश को लेकर बेहद हैरान है। हैरानी का कारण भाजपा द्वारा कराया गुपचुप सर्वे है, जिसमें इन 22 पूर्व विधायकों और मंत्रियों में से 13 की सीट खतरे में दिखाई पड़ रही है। इसी कारण अब भाजपा भी मंत्रिमंडल विस्तार में इन पूर्व मंत्रियों की भागीदारी पर संशय कर रही है। 
सूत्रों के मुताबिक भाजपा आलाकमान के इशारे पर एक सर्वे एजेंसी ने मध्यप्रदेश में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों और सरकार के उन मंत्रियों का सर्वे किया था जिस सर्वे में यह बात सामने आई तो आलाकमान भी चौंक गया है, जिसमें भाजपा के टिकट पर कांग्रेस के 13 पूर्व विधायक व मंत्रियों की हालत पतली दिखाई पड़ती है। 
बताया जाता है कि भाजपा आलाकमान इन सर्वे को लेकर चिंतित है और यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने मंत्रीमंडल विस्तार में कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों को स्थान देने में कंजूसी बरती। अन्यथा वायदे के मुताबिक इस्तीफा देने वाले सभी मंत्रियों को पुन: मंत्री बनाया जाना था। 
अब संभावना इस बात की भी बन गई है कि अब मुख्यमंत्री अपना मंत्रीमंडल विस्तार इसी कारण फिलहाल लॉक डाउन के नाम लेकर कुछ समय को टाल भी दें। 
क्रमश: 

Popular Posts