BREAKING!
  • भारतीय मजदूर संघ ने राकेश चतुर्वेदी को दी श्रद्धांजलि
  • हिन्दू नेताओं की सीबीआई की अदालत से बरी होना असत्य पर सत्य की जीत : भदौरिया
  • पवैया के दोष मुक्त होने पर खुशी, अभिनंदन होगा
  • जनसंपर्क विभाग के गुलाटी हर समस्या का समाधान थे : संपादक व पत्रकार
  • पूर्व मंत्री पवैया अयोध्या प्रकरण के अंतिम फैसले में उपस्थित होने आज लखनऊ रवाना हुए
  • चुनाव में कांग्रेस मुद्दाविहीन, भाजपा के पास जनता के लिए है विकास और सक्षम नेतृत्व: आर्य
  • केंद्र सरकार के विद्युत वितरण कंपनीयो के निजीकरण का करेंगे विरोध
  • गजब सरकार: उच्च शिक्षा स्पोर्टस के मेरिट छात्रों को भी प्रवेश नहीं : सीटें खाली
  • नामांकन नौ से भरे जायेंगे, मतदान 3 नवंबर को: कलेक्टर सिंह
  • निर्विघ्र मतदान को पुलिस भी तैयार, 20 कंपनियां केन्द्रीय बल की भी: अमित सांघी

Sandhyadesh

ताका-झांकी

भाजपा गोपनीय सर्वे को लेकर चिंतित, दलबदलू 13 सीटों पर कमजोर

27-Apr-20 5329
Sandhyadesh

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले मंत्री और विधायकों सहित भाजपा आलाकमान इन दिनों मध्यप्रदेश को लेकर बेहद हैरान है। हैरानी का कारण भाजपा द्वारा कराया गुपचुप सर्वे है, जिसमें इन 22 पूर्व विधायकों और मंत्रियों में से 13 की सीट खतरे में दिखाई पड़ रही है। इसी कारण अब भाजपा भी मंत्रिमंडल विस्तार में इन पूर्व मंत्रियों की भागीदारी पर संशय कर रही है। 
सूत्रों के मुताबिक भाजपा आलाकमान के इशारे पर एक सर्वे एजेंसी ने मध्यप्रदेश में इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों और सरकार के उन मंत्रियों का सर्वे किया था जिस सर्वे में यह बात सामने आई तो आलाकमान भी चौंक गया है, जिसमें भाजपा के टिकट पर कांग्रेस के 13 पूर्व विधायक व मंत्रियों की हालत पतली दिखाई पड़ती है। 
बताया जाता है कि भाजपा आलाकमान इन सर्वे को लेकर चिंतित है और यही कारण है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने मंत्रीमंडल विस्तार में कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों को स्थान देने में कंजूसी बरती। अन्यथा वायदे के मुताबिक इस्तीफा देने वाले सभी मंत्रियों को पुन: मंत्री बनाया जाना था। 
अब संभावना इस बात की भी बन गई है कि अब मुख्यमंत्री अपना मंत्रीमंडल विस्तार इसी कारण फिलहाल लॉक डाउन के नाम लेकर कुछ समय को टाल भी दें। 
क्रमश: 

Popular Posts