मिसहिल स्कूल के पूर्व छात्रों का मिलन समारोह छह को


ग्वालियर। शिक्षा एवं उत्कृटता का प्रतीक मिसहिल स्कूल छह जनवरी को अपना स्थापना का 104 वां दिवस मनायेगा साथ ही इस अवसर पर पूर्व छात्र सम्मेलन भी आयोजित किया जायेगा। इस पूर्व छात्र सम्मेलन में 1921 से 2023 तक के पूर्व छात्रों  को आमंत्रित किया गया है। 
उक्त जानकारी आज पत्रकारों को देते हुये स्कूल मैनेजमेंट , प्राचार्य और एलुमनाई एसोसियेशन के सदस्य 1984 बैच के छात्र दीपक तोमर, डॉ प्रशांत लहारिया,प्राचार्य डॉ एसपी सिंह ने बताया कि मिसहिल स्कूल का गौरव शाली इतिहास 100 वर्षो का रहा है। उन्होंने बताया कि हम सभी सौ वर्षो की इस गौरवशाली यात्रा में विद्यालय का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस स्कूल ने हमें शिक्षा और संस्कार के साथ साथ जीवन के संघर्षो  से लडना सिखाया है।  उन्होंने कहा कि आज यदि हम अपने अपने क्षेत्र में कामयाब हैं तो इसका श्रेय विद्यालय को जाता है। क्योंकि स्कूल की शिक्षा हमारी बुनियाद का निर्माण करती है। हमारे चरित्र को गढती है और हमें दूरदर्शी बनाती है। उन्होंने कहा कि 104 वे स्थापना दिवस का हिस्सा बनकर हम सभी गौरान्वित है। पूर्व छात्र सम्मेलन इस उत्सव की आधारशिला है , जो विभिन्न  बैचों  के पूर्व छात्रों का एक हार्दिक पुर्नमिलन का वादा करती है। 
यह सम्मेलन पूरानी यादों को साझा करने, पुराने दोस्तो से मिलने और दुनियांभर के विभिन्न क्षेत्रों में मिसहिलिटस द्वारा हासिल की गई सफलताओं का जश्न मनाने का समय है। इस कार्यक्रम में पूर्व छात्रों के साथ ही पूर्व शिक्षक जैसे विजय मानके, सुश्री हरिसिद्धि तैलंग, आरके शर्मा, बी ऐश श्रीवास्तव, माधवी अकोलकर, कुसुम महिन्द्रा, मंजूलता शर्मा, विजय सुरंगे, कुसुम लाम्बा, प्रथमेश शेष , सुश्री परवेज आदिल, सुनील शेजवलकर, प्रमोद कुमार उपाध्याय आदि प्रमुख है।  कार्यक्रम सचिव 1995 बैच के पूर्व छात्र हरीश पाल ने बताया कि स्कूल के 104 वे स्थापना दिवस और एलुमनाई मीट में दुनियांभर से स्कूल के पूर्व छात्र शामिल हो रहे हैं। अपनी स्थापना के बाद से ही मिस हिल स्कूल शैक्षणिक प्रतिभा , समग्र विकास और चरित्र निर्माण का एक स्तंभ रहा है। पिछले 104 वर्षो में स्कूल ने अनगिनत प्रतिभाओं को गढा है समय की कसौटी पर खरे उतरने वाले मूल्यों को स्थापित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। स्कूल के पूर्व छात्र देश दुनियां में अपना नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने बताया  कि इस एलुमनाई मीट में 1921 से 2023 तक के पूर्व छात्रों को आमंत्रित किया गया है। जिसमें प्रशासनिक अधिकारी, राजनैतिज्ञ, बिजनिसमैन, शिक्षक, बॉलीवुड के सितारे, भी शामिल हैं। 
उन्होंने बताया  कि इस उत्सव में पूर्व छात्र अपनी यादों को साझा करेंगे जीवन के खटटे मीठे अनुभवों को आपस में बांटेंगे। वहीं पुरानी कहानियों को जीवंत करने की कोशिश करेंगे। इसमें शैक्षणिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ साथ कई सामाजिक कार्यक्रमों को भी शामिल किया जायेगा। कुछ पूर्व छा़त्रों को अतुलनीय कार्यो के लिये सम्मानित भी किया जायेगा। मिस हिल एलुमनाई ने सभी पूर्व छात्रों वर्तमान छात्रों अविभावकों शिक्षकों शुभचिंतकों को आमंत्रित किया है। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा स्कूल की पत्रिका अंजली को फिर से जिंदा करने का प्रयास भी किया जायेगा। इस अवसर पर 1921 और 1940 के छात्रों के अनुभव भी साझा किये जायेंगे। 
पत्रकार वार्ता में डॉ राहुल सप्रा, डॉ गौरव त्रिपाठी, अजय पाटिल, हरीश पाल, मुजीव खान, वरूण अग्रवाल आदि मौजूद थे।  

posted by Admin
381

Advertisement

sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
sandhyadesh
Get In Touch

Padav, Dafrin Sarai, Gwalior (M.P.)

00000-00000

sandhyadesh@gmail.com

Follow Us

© Sandhyadesh. All Rights Reserved. Developed by Ankit Singhal

!-- Google Analytics snippet added by Site Kit -->